दिल्ली एनसीआर से रीना परवीन ने श्रमिक वाणी के माध्यम से रीना परवीन की बातचीत अनम से हुई अनम बताती हैं मैं जोली कंपनी में काम करती हूं हमारी फैक्ट्री में लिपस्टिक बनती है हमें 4 महीने से पीएफ नहीं मिल रहा था पीएफ नहीं मिलने की वजह से बहुत ज्यादा समस्या हो रही थी हमने अपने कंपनी मैनेजर से कई बार शिकायत की थी फिर भी पीएफ नहीं मिल रहा था श्रमिक वाणी द्वारा खबर चलाई गई और खबर को हमारे एचआर को खबर शेर की थी आज हमारे खाते में 4 महीने का पीएफ हमें मिल गया है मैं श्रमिक वाणी की शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने हमारा पीएफ हमें दिलवाया 21 फरवरी 2024 को श्रमिक वाणी पर हमने खबर चलाई खबर को हमने लोकल व्हाट्सएप ग्रुप फेसबुक कंपनी के हर को खबर शेर की थी खबर का हुआ असर

दिल्ली एनसीआर श्रमिक वाणी के माध्यम से रीना परवीन की बातचीत रेशमा से हुई रेशमा बताती हैं मैं पूजा कंपनी में काम करती हूं लेडिस फ्रॉक बनती हैं हमें 4 महीने से पीएफ नहीं मिल रहा था एचआर द्वारा कई बार हमने अपनी शिकायत भी की थी कोई कार्रवाई नहीं हो रही थी अब हमारे खाते में 2 महीने का पीएफ मिल गया है मैं श्रमिक वाणी का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं 21 फरवरी 2024 को श्रमिक वाणी पर खबर चलाई थी खबर को हमने लोकल व्हाट्सएप ग्रुप फेसबुक हर को खबर शेर की थी खबर का बड़ा असर हुआ है

दिल्ली एनसीआर श्रमिक वाणी के माध्यम से रीना परवीन की बातचीत बबीता से हुई बबीता बताती हैं ईएसआई कार्ड बनने के बाद भी हमें ईएसआई कार्ड से दवाई नहीं मिलती थी एक-दो गोलियां देकर चला कर दिया जाता था एक सप्ताह पहले हमने श्रमिक वाणी पर अपना इंटरव्यू दिया था इंटरव्यू देने से इतना फायदा हुआ कि आज सुबह एचआर वह फैक्ट्री मैनेजर दोनों ही हमारे पास आए और उन्होंने कहा कि आप ईएसआई कार्ड रिन्यू करवा कर और आपको दवाई मिलने लगेगी अब हमारी कंप्लेंट आप नहीं करेगा मैं श्रमिक वाणी का शुक्रिया अदा करती हूं कि उन्होंने हमारा इतना बड़ा काम कराया खबर को हमने लोकल व्हाट्सएप ग्रुप फेसबुक कंपनी के एचआर वे मैनेजर को खबर शेर की थी खबर का बड़ा असर हुआ है

दिल्ली एनसीआर से रीना परवीन ने श्रमिक वाणी के माध्यम से दिनांक 12-02-24 को बताया कि श्रमिक वाणी पर दिनांक 05-02-24 को ख़बर प्रसारित की थी। जिसमे उन्होंने स्थानीय निवासी शाहबाज से पीएफ और ईएसआई कार्ड से सम्बन्धित बातचीत की थी। शाहबाज ने बताया था कि वे प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में काम करते हैं जहाँ उन्हें दो साल से पीएफ नहीं मिल रहा था। जिस कारण सारे वर्कर बहुत ज्यादा परेशान थे। इस खबर को रीना परवीन द्वारा कंपनी मैनेजर और कम्पनी के एचआर व लोकल व्हाट्सएप ग्रुप फेसबुक को फॉरवर्ड कर साझा की गयी थी जिसके बाद एचआर ने समस्या को संज्ञान में लेकर सभी श्रमिकों को अगले महीने से पीएफ काटने और ईएसआई कार्ड की भी सुविधा प्रदान कराने की बात कही।इस कार्य हेतु शाहबाज श्रमिक वाणी का शुक्रिया अदा कर रहे हैं।

दिल्ली आईएमटी मानेसर से मनीष कुमार पांडेय ने श्रमिक वाणी पर दिनांक 11-02 -23 को बताया कि उन्होंने श्रमिक वाणी पर दिनांक 02-02-23 को ख़बर प्रसारित की थी। जिसमे श्रमिक शुभम पांडेय ने बताया था कि ठेकेदार दस दिन का बकाया वेतन उन्हें देने में आना कानी कर रहा है ,जिससे उन्हें काफी परेशानी भी हो रही है। इस खबर को मनीष कुमार पांडेय द्वारा नंबर 5 दबाकर ठेकेदार को फॉरवर्ड किया गया जिसके बाद ठेकेदार ने श्रमिक शुभम पांडेय को उनका दस दिन का बकाया पैसा दे दिए जिससे श्रमिक शुभम पांडेय बहुत खुश है और श्रमिक वाणी को धन्यवाद व्यक्त कर रहे हैं।

दिल्ली एनसीआर श्रमिक वाणी के माध्यम से रीना परवीन की बातचीत सोनू से हुई सोनू बताते हैं मैं ए एस गोल्ड प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में काम करता हूं हमारी कंपनी में प्लास्टिक की प्लेट बनती हैं पीएफ तो काटता है और ईएसआई कार्ड भी बना हुआ है मगर इस कार्ड होने की बावजूद हमें मेडिकल सुविधा नहीं मिलती है हमें प्राइवेट डॉक्टर या गवर्नमेंट अस्पताल में ही अपना और अपने परिवार का इलाज करना पड़ता था बीते मंगलवार को श्रमिक वाणी पर अपनी हमने बात रिकॉर्ड कराई थी और उसमें अपनी पूरी कहानी बताई थी अब उसे खबर को हमारे कंपनी मालिक वह एचआर को खबर शेर की थी यह मालूम नहीं किसने की थी हमें तो मालूम चला हमारे एचआर से के हमारी कंपनी की कोई मीडिया में खबरें दे रहा है और यह लोग आप गलत कर रहे हैं आपको पीएफ मिलता है ईएसआई कार्ड में भी दवाई मिलने लगेगी अब आप हमारी कोई भी कंप्लेंट नहीं करेगा जब हमें पता लगा कि एचआर से क्या हमारी खबर चल रही है मैं श्रमिक वाणी का शुक्र गुजार हूं कि उन्होंने बहुत ही अच्छा काम किया है अब हमारा परिवार का फ्री में इलाज हो सकेगा 6 फरवरी 2024 को खबर को हमने लोकल व्हाट्सएप ग्रुप फेसबुक कंपनी के मालिक और एचआर को खबर शेर की थी

दिल्ली के श्री राम कॉलोनी के वार्ड 246 के थाना खजुरी ख़ास से रीना परवीन ने श्रमिक वाणी के माध्यम से महेश पाल से बातचीत किया। बातचीत के दौरान महेश पाल ने बताया की इन्होने दिनांक 03/02/2024 को श्रमिक वाणी पर एक समस्या रिकॉर्ड करवाया था। जिसमे उन्होंने बताया था की जैन कंपनी के द्वारा इन्हे 2 माह से वेतन नहीं दिया जा रहा था। जिसके बाद मोबाइल वाणी के संवाददाता रीना परवीन ने इस खबर को नंबर 5 दबा व्हाट्सएप, फेसबुककर के माध्यम से फैक्ट्री मालिक और कंपनी के एचआर को शेयर किया। इसका असर यह हुआ है की फैक्ट्री मालिक के द्वारा महेश पाल को 2 माह का वेतन दे दिया गया है । समस्या का समाधान होने से महेश पाल बहुत खुश है और श्रमिक वाणी को धन्यवाद दे रहे है।

दिल्ली, श्रीराम कॉलोनी से रीना परवीन श्रमिक वाणी के माध्यम से कह रहीं हैं कि, इन्होने दिनांक "18-01-2024" को "सिगनेचर ब्रिज से मजनू टीले जाने वाले फ्लाईओवर के पास ख़राब है हाई मास्क लाइट" शीर्षक से एक ख़बर प्रसारित किया था। ख़बर में बताया गया था कि, "सिगनेचर ब्रिज से मजनू टीले जाने वाले फ्लाईओवर के पास बहुत बड़ी हाई मास्क लाइट ख़राब थी। हाई मास्क लाइट ख़राब होने के कारण पूरे क्षेत्र में अंधेरा फैला हुआ था। क्योंकि यह हाई मास्क लाइट बहुत दूर तक फोकस करती थी, इसमें लगभग दस एलईडी लाइट लगी हुई है।". ख़बर को श्रमिक वाणी पर प्रसारित करने के बाद, इन्होने इस ख़बर को बिजली विभाग व पीडब्लूडी को व्हाट्सअप और फेसबुक ग्रुप्स के माध्यम से साझा किया था। ख़बर को संज्ञान में लेकर हाई मास्क लाइट को ठीक करा दिया गया है। अब इलाक़ा में अँधेरा नहीं है

दिल्ली, श्रीराम कॉलोनी से रीना परवीन श्रमिक वाणी के माध्यम से कह रहीं हैं कि, इन्होने दिनांक "18-01-2024"को "खजूरी चौक से सिग्नेचर ब्रिज जाने वाली सड़क पर ख़राब है स्ट्रीट लाइट" शीर्षक से एक ख़बर प्रसारित किया था। ख़बर में बताया गया था कि, "खजूरी चौक से सिग्नेचर ब्रिज जाने वाली सड़क पर स्ट्रीट लाइट ख़राब होने के कारण सड़क अँधेरा में डूबा हुआ था। जबकि यमुना नदी के बिल्कुल पास का इलाक़ा में कोहरा भी काफी होता है, कोहरा के कारन अँधेरा में और भी ज़ियादा इज़ाफ़ा हो जाता है। ". ख़बर को इन्होने श्रमिक वाणी पर प्रसारित करने के बाद लोकल व्हाट्सएप और फेसबुक ग्रुप के माध्यम से पीडब्ल्यूडी व बिजली विभाग को साझा किया। खबर को संज्ञान में लेकर अब स्ट्रीट लाइट को ठीक करा दिया गया है

दिल्ली एनसीआर से रीना परवीन श्रमिक वाणी के माध्यम से दिनांक 31-01-24 को बताया कि उन्होंने श्रमिक वाणी पर दिनांक 17-01-24 को एक ख़बर प्रसृत की थी। जिसमें बताया गया था कि शास्त्री पार्क फ्लाईओवर पर लगी सभी स्ट्रीट लाइट बहुत दिनों से खराब थी। स्टेट लाइट खराब होने की वजह से पूरे फ्लाईओवर पर अंधेरी था और शास्त्री पार्क के नीचे की ओर जाने वाले रास्ते पर भी अंधेरा था। इस ख़बर को रीना परवीन द्वारा लोकल व्हाट्सएप ग्रुप फेसबुक पीडब्ल्यूडी अधिकारी व बिजली विभाग के सीनियर अधिकारियों को फॉरवर्ड किया गया। जिसका खबर का असर यह हुआ कि अब सभी स्ट्रीट लाइट सही कर दी गई है।