Transcript Unavailable.

झारखण्ड राज्य के जिला गिरिडीह प्रखंड बेंगाबाद के लक्ष्मण राम जी मोबाइल वाणी के माध्यम से बताना चाहते हैं कि गिरिडीह जिला के हॉस्पिटल में भ्रस्टाचार पूर्ण रूप से व्याप्त है, किसी भी मरीज का बिना पैसे के इलाज हो पाना संभव नहीं रह गया है ,हॉस्पिटल में रोज़ाना लगभग १०००मरीज आते हैं और उनका इलाज करने के लिए सिर्फ २ डॉक्टर ही उपस्थित रहते है, उनके कहने के अनुसार सरकारी हॉस्पिटल के सभी डॉक्टर अपना निजी निदानशाला खोल कर बैठे है और सरकारी हॉस्पिटल में वे समय नहीं देते है इस कारन गरीब व्यक्तियों का इलाज भी सही तरीके से नहीं हो पा रहा है, लक्ष्मण राम जी झारखण्ड के स्वास्थ मंत्री चंद्रवंशी जी से आग्रह कर रहे है की गिरिडीह के स्वास्थ्य व्यवस्था पर थोड़ा ध्यान दे और मरीजों को हो रही परेशानी का जल्द से जल्द निदान करे।

झारखण्ड राज्य के पूर्वी सिंहभूम जिला के घाटशिला प्रखंड से शेख रियाज ने मोबाइल वाणी के माध्यम से बताया कि वे एक सरकारी स्कूल के छात्र हैं । उन्हें अपने विद्यालय में अनेकों समस्याओं का सामना करना पड़ता है। क्योंकि उनके विद्यालय में शिक्षा के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति किया जाता है।वे कहते हैं कि उनके विद्यालय में शिक्षक तो आते हैं, परन्तु पढ़ाई नहीं करातें है । अत: वे चाहते है कि इस विषय से सबंधित झारखण्ड के मुख्यमंत्री को अवगत कराया जाए। ताकि यहाँ के बच्चों की समस्या से निजात मिले और उन्हें अच्छी शिक्षा मिल सके ।

झारखण्ड राज्य के धनबाद जिला के तोपचांची प्रखंड से तफज्जुल आज़ाद मोबाइल वाणी के माध्यम से बताते हैं, कि तोपचांची प्रखंड अंतर्गत गुणसा पंचायत में बन रहे नाली में चिमनी ईटा के जगह बांग्ला ईटा का इस्तेमाल किया जा रहा है वहीँ स्थानीय लोगों ने बताया कि निर्माण कार्य में सीमेंट का उपयोग भी काफी कम मात्रा में किया जा रहा है। इससे यह ज्ञात होता है कि नाली केवल एक से दो वर्ष तक ही साथ निभा पाएगी। इससे स्थानीय लोगों में ठेकेदार के प्रति काफी रोष है

झारखंड राज्य के गिरिडीह जिला जमुआ प्रखंड से शिव चरण कुमार मोबाइल वाणी के द्वारा कहते हैं, कि पुरा झारखंड सुखारग्रस्त हो गया है,जिसमें गिरिडीह जिला भी सुखाड़ का मार झेल रहा है।सुखाड़ के कारण किसानों की स्थिति काफी दयनीय हो गयी है।जिले के किसान एक ओर सुखाड़ के कारण धान की उपज कम होने से परेशान हैं,तो दुसरी तरफ बिचौलिया बाहर से आ कर उन धानो को भी कम कीमत पर खरीद कर ट्रक के ट्रक बाहर ले जा रहे हैं।इस पर जिला अधिकारी को रोक लगाना चाहिए।ट्रक से बाहर ले जा रहे धानों को जब्त कर जिले के अंदर ही उससे चावल का निर्माण करवा कर यहाँ के बाज़ारों में उसे बेचने की व्यवस्था की जानी चाहिए।

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

झारखण्ड राज्य के बोकारो जिला के पेटरवार प्रखंड से किशोरी नायक मोबाइल वाणी के माध्यम से बताते हैं, कि प्रधान मंत्री जी के नेतृत्व में स्वछ भारत अभियान चला कर देश वासियों को साफ-सफाई के प्रति जागरूक किया गया। जो आज बहुत ही अच्छा और सुंदर प्रयास प्रतीत हो रहा है। आज हर पंचायत में जगह-जगह डस्टबिन को रखा गया है। जहाँ लोग अपने घर के कूड़े-कचड़े को डस्टबिन में डाल सकें हैं। लेकिन जब डस्टबिन भर जाता है तो उसे हटाने वाला कोई नहीं होता। आज पंचायत में जितने भी डस्टबिन रखा गया है वह केवल एक शोभा बन कर रह गया है। डस्टबिन की सुचारु रूप से देख भाल नहीं होने के कारण आस-पास सड़क पर ही पूरा कचड़ा जमा होता जा रहा है। मजबूरन लोग डस्टबिन को जला देते हैं ताकि लोगों को कचड़े से और बदबू से थोड़ी राहत मिल सके। अतः प्रसाशन जल्द से जल्द इस ओर ध्यान दे। साथ ही लोगों को जागरूक करने का कार्य करे।

Transcript Unavailable.