आलंम् की अनमोल बात

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

पानी की की किलत

जल ही जीवन है

दिल्ली एनसीआर श्रमिक वाणी के माध्यम से रीना परवीन की बातचीत अनम से हुई अनम बताती हैं मैं जोली कंपनी में काम करती हूं हमारी फैक्ट्री में लिपस्टिक बनती है हमें 4 महीने से पिएफ नहीं मिल रहा है पीएफ नहीं मिलने की वजह से बहुत ज्यादा समस्या हो रही है जबकि हमें हर महीने हमारा पीएफ कट जाता है मगर फैक्ट्री मालिक द्वारा हमें पीएफ नहीं दिया जा रहा है

बैग बनाने वाले से मन की बात

दिल्ली एनसीआर श्रमिक वाणी के माध्यम से रीना परवीन की बातचीत वसीम से हुई वसीम बताते हे मैं एक्सल प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में काम करता हूं हमारी कंपनी में लोहे के पेच बनते हैं और हम मशीनों पर काम करते हैं हमारे फैक्ट्री में हमें ग्लव्स शूज नहीं दिए जाते क्योंकि हमारी फैक्ट्री में गरम-गरम मशीनों द्वारा डाई हाथ से निकालने पड़ती है कई बार तो हमारे हाथ भी जल जाते हैं 4 महीने से रुका हुआ पिएफ भी नहीं मिल रहा है हमने अपने एचआर से कई बार मांग की है मगर एचआर हमारी सुनता नहीं है

मिड डे मील की बात

आशा वर्कर की हाल जाना