जमुई के गरीबो के सहायता हेतु तत्पर सुरभि हॉस्पिटल हॉस्पिटल के प्रबंधक आशीष कुमार से बात चीत किया गया | विस्तार पूर्वक जानकारी के लिए क्लिक करें ऑडियो पर और सुनें पूरी खबर।   

शेखपुरा जिला के अरियरी प्रखंड के चोढ़दरगाह पंचायत के संभावित मुखिया उम्मीदवार सरफ़राज़ जी से मोबाइल वाणी के माध्यम से साक्षात्कार लिया गया जिसमें सरफ़राज़ जी ने कहा कि मुखिया का काम है ग्राम पंचयात के विकास करना और जनता से जुड़ी तमाम समस्याओं को निराकरण करने साथ साथ हर वक्त जनता के साथ रहना है। मुखिया को हमेशा जनता के सुख-दुःख में सहयोग करना चाहिए।विस्तार पूर्वक जानकारी के लिए क्लिक करें ऑडियो पर और सुनें पूरी खबर।   

जिले में कोरोना संक्रमित तू का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। वहीं मंगलवार को सिम्स लैब से जारी रिपोर्ट में 322 मरीजों की रिपोर्ट जारी की गई है। इसमें शहर समेत जिले के 14 नए कोरोना संक्रमित की पुष्टि हुई है। वहीं आठ मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें जिला अस्पताल से छुट्टी देकर घर भेज दिया गया है।

आत्मबल्लभ जनकल्याण ट्रस्ट कोलकाता द्वारा संचालित भगवान महावीर हॉस्पिटल लछुआड़ में अब नेत्र रोगियों को अपने नेत्रों की जांच एवं नेत्र सर्जरी को लेकर इंतजार करना पड़ सकता है।दरअसल पाँच राज्यों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते जिला प्रशासन के द्वारा हॉस्पिटल प्रबंधन को एहतियात बरतने का निर्देश दिया गया है।इस आशय की जानकारी देते हुए हॉस्पिटल के प्रबंधक अनिल पाठक ने बताया कि सरकारी निर्देशानुसार नेत्र रोगियों का रजिस्ट्रेशन भी फिलहाल बंद कर दिया गया है।इधर रजिस्ट्रेशन बंद होने से आसपास गांवों के अलावा सीमावर्ती जिले के दूर दूर से नेत्र रोगी व्यक्ति हॉस्पिटल का चक्कर लगा बिना दिखाए वापस घर लौटने को विवश हो रहे हैं।जिससे उन्हें आर्थिक परेशानी के साथ मानसिक परेशानी झेलनी पड़ रही है।विभागीय आदेशानुसार पुनः नेत्र रोगियों की जांच प्रक्रिया शुरू की जाएगी।विस्तृत जानकारी के लिए ऑडियो पर क्लिक करें। 

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

कायाकल्प योजना के तहत सदर अस्पताल का निरीक्षण किया गया। इस सिलसिले में राज्य स्वास्थ्य समिति के टीम ने सदर अस्पताल द्वारा दी जा रही स्वास्थ्य सेवाओ का मूल्यांकन किया। राज्य स्वास्थ्य समिति के पदाधिकारी मनीष कुमार के नेतृत्व में सदस्यों ने सदर अस्पताल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में टीम ने स्वास्थ्य सेवा के साथ साथ अस्पताल के उपलब्ध आधारभूत संरचना का भी मूल्यांकन किया। इसके अलावे प्रसव कक्ष, पोस्टमार्टम गृह, इमरजेंसी वार्ड, एसएनसीयू वार्ड, पार्किंग स्थल, गार्डन एवं कई अन्य चीजों की बारीकी से निरीक्षण किया। इस संबंध में मौके पर जानकारी देते हुए राज्य स्वास्थ समिति के पदाधिकारी मनीष कुमार ने बताया कि पूरे बिहार के अलग-अलग अस्पतालों में कायाकल्प के तहत लाभ देने के लिए निरीक्षण का कार्य किया जा रहा है। इसके तहत प्रथम स्थान पाने वाले को 50 लाख रुपया और दूसरे स्थान पाने वाले जिला अस्पताल को 20 लाख रुपया नगद दिया जाता है। इस राशि से अस्पताल के विकास के साथ साथ डाक्टर और कर्मियों के बीच भी वितरित किया जाता है। इसी क्रम में मंगलवार को सदर अस्पताल का निरीक्षण किया गया। इस संबंध में सदर अस्पताल प्रबंधक धीरज कुमार ने बताया कि पिछली बार सदर अस्पताल को पूरे बिहार में कायाकल्प के तहत दूसरा स्थान प्राप्त किया था। इस बार पहला स्थान मिले इसके लिए पूरी तैयारियां पहले से की गई है। उन्होंने बताया कि सदर अस्पताल सभी मानकों पर खरा उतरे इसके लिए पहले है सभी तैयारियां पूरी कर ली गई थी। पिछले साल पूरे राज्य में दूसरा स्थान पाने के बाद यहाँ डाक्टर और कर्मियों का मनोबल उच्चा बना हुआ है।इस खबर को सुनने के लिए ऑडियो पर क्लिक करें।