शेखपुरा में आये दिन लगातार लहरिया कट मोटरसाइकिल सवार ने ऐसे घटना को अंजाम दे रहा है।लेकिन प्रशासन इस पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है।छात्रा गायत्री कुमारी जो रौंदी गाँव के सुधीर महतो की पुत्री बताई जा रही है।वह सुबह पढ़ने के लिए शेखपुरा बाजार सदर थाना के पास मोटरसाइकिल सवार ने धक्का मार दिया और मौके पर से फरार हो गया। विस्तार पूर्वक जानकारी के लिए क्लिक करें ऑडियो पर और सुनें पूरी खबर।

जमुई के गरीबो के सहायता हेतु तत्पर सुरभि हॉस्पिटल हॉस्पिटल के प्रबंधक आशीष कुमार से बात चीत किया गया | विस्तार पूर्वक जानकारी के लिए क्लिक करें ऑडियो पर और सुनें पूरी खबर।   

जिले में कोरोना संक्रमित तू का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। वहीं मंगलवार को सिम्स लैब से जारी रिपोर्ट में 322 मरीजों की रिपोर्ट जारी की गई है। इसमें शहर समेत जिले के 14 नए कोरोना संक्रमित की पुष्टि हुई है। वहीं आठ मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें जिला अस्पताल से छुट्टी देकर घर भेज दिया गया है।

आत्मबल्लभ जनकल्याण ट्रस्ट कोलकाता द्वारा संचालित भगवान महावीर हॉस्पिटल लछुआड़ में अब नेत्र रोगियों को अपने नेत्रों की जांच एवं नेत्र सर्जरी को लेकर इंतजार करना पड़ सकता है।दरअसल पाँच राज्यों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते जिला प्रशासन के द्वारा हॉस्पिटल प्रबंधन को एहतियात बरतने का निर्देश दिया गया है।इस आशय की जानकारी देते हुए हॉस्पिटल के प्रबंधक अनिल पाठक ने बताया कि सरकारी निर्देशानुसार नेत्र रोगियों का रजिस्ट्रेशन भी फिलहाल बंद कर दिया गया है।इधर रजिस्ट्रेशन बंद होने से आसपास गांवों के अलावा सीमावर्ती जिले के दूर दूर से नेत्र रोगी व्यक्ति हॉस्पिटल का चक्कर लगा बिना दिखाए वापस घर लौटने को विवश हो रहे हैं।जिससे उन्हें आर्थिक परेशानी के साथ मानसिक परेशानी झेलनी पड़ रही है।विभागीय आदेशानुसार पुनः नेत्र रोगियों की जांच प्रक्रिया शुरू की जाएगी।विस्तृत जानकारी के लिए ऑडियो पर क्लिक करें। 

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

कायाकल्प योजना के तहत सदर अस्पताल का निरीक्षण किया गया। इस सिलसिले में राज्य स्वास्थ्य समिति के टीम ने सदर अस्पताल द्वारा दी जा रही स्वास्थ्य सेवाओ का मूल्यांकन किया। राज्य स्वास्थ्य समिति के पदाधिकारी मनीष कुमार के नेतृत्व में सदस्यों ने सदर अस्पताल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में टीम ने स्वास्थ्य सेवा के साथ साथ अस्पताल के उपलब्ध आधारभूत संरचना का भी मूल्यांकन किया। इसके अलावे प्रसव कक्ष, पोस्टमार्टम गृह, इमरजेंसी वार्ड, एसएनसीयू वार्ड, पार्किंग स्थल, गार्डन एवं कई अन्य चीजों की बारीकी से निरीक्षण किया। इस संबंध में मौके पर जानकारी देते हुए राज्य स्वास्थ समिति के पदाधिकारी मनीष कुमार ने बताया कि पूरे बिहार के अलग-अलग अस्पतालों में कायाकल्प के तहत लाभ देने के लिए निरीक्षण का कार्य किया जा रहा है। इसके तहत प्रथम स्थान पाने वाले को 50 लाख रुपया और दूसरे स्थान पाने वाले जिला अस्पताल को 20 लाख रुपया नगद दिया जाता है। इस राशि से अस्पताल के विकास के साथ साथ डाक्टर और कर्मियों के बीच भी वितरित किया जाता है। इसी क्रम में मंगलवार को सदर अस्पताल का निरीक्षण किया गया। इस संबंध में सदर अस्पताल प्रबंधक धीरज कुमार ने बताया कि पिछली बार सदर अस्पताल को पूरे बिहार में कायाकल्प के तहत दूसरा स्थान प्राप्त किया था। इस बार पहला स्थान मिले इसके लिए पूरी तैयारियां पहले से की गई है। उन्होंने बताया कि सदर अस्पताल सभी मानकों पर खरा उतरे इसके लिए पहले है सभी तैयारियां पूरी कर ली गई थी। पिछले साल पूरे राज्य में दूसरा स्थान पाने के बाद यहाँ डाक्टर और कर्मियों का मनोबल उच्चा बना हुआ है।इस खबर को सुनने के लिए ऑडियो पर क्लिक करें। 

कोरोना टीकाकरण पोर्टल का सर्वर डाउन रहने के कारण लोगो को कठिनाई का सामना पड़ा। टीकाकरण का यह अभियान पूरी तरह वेबसाइट पर आधारित है। अग्रिम पंक्ति के कोरोना योद्धा को टीका देने के अभियान के तहत होमगार्ड जवानों को टीका दिया जा रहा है। सर्वर डाउन रहने के कारण होमगार्ड जवानों को घंटों इंतजार करना पड़ा। लम्बे इंतजार के बीच कई जवान बिना टीका लिए ही वापस अपने ड्यूटी स्थल पर चले गए। टीकाकरण का यह कार्य सदर अस्पताल में चलाया जा रहा था। प्राप्त जानकारी के अनुसार घंटों इंतजार करने के बाद सर्वर फिर से सुचारू रूप से चालू हो सका। इस संबंध में जानकारी देते हुए सदर अस्पताल के टेक्नीशियन ने बताया कि एक साथ कई जिलों में लॉग इन करने के कारण समस्या आ गई। सर्वर में ज्यादा लोड आने के बाद यह तकनीकी समस्या आ जाया करती है। कुछ घंटों के बाद सर्वर फिर से सामान्य हो गया। घंटों स्वास्थ्य कर्मी भी सर्वर लौटने का सदर अस्पताल में इंतजार करते रहे। सर्वर सुचारू होने के बाद टीकाकरण का काम फिर से शुरू हुआ। टीका के एक वायल से 10 लोगो को टीका दिया जाता है। इसलिए कमसेकम दस व्यक्ति के जमा होने के बाद ही वायल खोला जाता है।पूरी खबर सुनने के लिए ऑडियो पर क्लिक करें। 

शेखपुरा बरबीघा मुख्य सड़क मार्ग पर सदर प्रखंड के टाटी नदी पुल के पास पटना से ड्यूटी पर आ रहे एक चिकित्सक कार दुर्घटना में बुरी तरह घायल हो गए। सूत्रों ने बताया कि शेखपुरा आने के दौरान चिकित्सक के लग्जरी कार का अगला चक्का फटने के कारण खंभे से जा टकराया। घटना में कार का अगला हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है । घटना में निखिलेश्वर कुमार एवं डॉक्टर सोनू कुमार जख्मी हो गए । दोनों को घायलावस्था में सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां दोनों की हालत में सुधार है । सूत्रों ने बताया कि चिकित्सक प्रतिदिन की तरह पटना से शेखपुरा अपने ड्यूटी के लिए आ रहे थे । इसी क्रम में दुर्घटना हो गई है। विस्तृत जानकारी के लिए ऑडियो पर क्लिक करें। 

राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत शहरी मलिन बस्तियों में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर पहुँच बनाने के उद्देश्य से बरबीघा रेफरल अस्पताल के द्वारा गंगटी महादलित बस्ती में सामुदायिक चौपाल पर स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में 180 लोगों को विभिन्न प्रकार के रोगों का इलाज किया गया। जिसमें मुख्यतः दर्द की शिकायत, आँख की बीमारी, त्वचा,कान नोचनी, खुजली, खांसी सर्दी जुकाम सम्बंधित बीमारियों के साथ साथ उच्च रक्तचाप के मरीजों को भी डॉ0 धनंजय कुमार, फार्मासिस्ट कुंदन कुमार,ए0एन0एम0 चंचला कुमारी के द्वारा जाँच करने के बाद दवा उपलब्ध करवाया गया। इस दौरान पिरामल स्वास्थ्य के बी0टी0ओ0 नीरज कुमार, वार्ड पार्षद असरफी मांझी, संजय कुमार आदि उपस्थित थे।विस्तृत जानकारी के लिए ऑडियो पर क्लिक करें।