छोटे-छोटे बच्चे हो रहे हैं नशा के शिकार

ठंड में बच्चों को कैसे रखे सुरक्षित

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

सर्दी के मौसम में बच्चे को कैसे रखें सुरक्षित

बिहार राज्य के जमुई जिला के गिद्धौर प्रखंड से रंजन कुमार ने मोबाईल वाणी के माध्यम से बताया कि सरकार ने सरकारी स्कूलों में दोपहर का भोजन बच्चों को देने का प्रावधान किया है। इसके लिए मेन्यू भी जारी किया गया है। परन्तु मेन्यू के अनुसार बच्चों को भोजन नहीं दिया जा रहा है ।जंगल के सुदूर स्कूलों में तो सन्नाटा रहता है ,न पढ़ने वाले होते हैं और ना ही पढ़ाने वाले। वहां मध्याह्न भोजन का सवाल ही पैदा नहीं होता। जहाँ मध्याह्न भोजन दिया जाता है वहाँ भी बस खानापूर्ति ही होता है

बिहार राज्य के जमुई जिला से मोबाइल वाणी संवाददाता अमित कुमार सविता ने एक चिकित्सक से साक्षात्कार लिया जिसमें उन्होंने बताया की मौसम परिवर्तन से वायरल बुखार और सर्दी खाँसी की समस्या ज्यादा होने लगती है। इसलिए ऐसे समय में हम सभी को अपने रहन-सहन का भी ध्यान रखना चाहिए। इसके साथ ही अपने खान-पान में भी मौसम के अनुसार बदलाव लाना चाहिए।हर रोज कुछ विटामिन्स सी भी हमें जरूर लेना चाहिए। ठंड में गर्म कपड़े पहने चाहिए। साथ ही ठंडी तासीर वाली कोई भी वस्तु का सेवन नहीं करना चाहिए

नालंदा जिला के बिहार शरीफ प्रखंड अंतर्गत नकटपूरा पंचायत के मोहिद्दीनपुर गांव में स्थित उत्क्रमित उच्च विद्यालय में बच्चों के साथ उड़ान परियोजना के तहत सेव द चिल्ड्रन/यूनीसेफ के सहयोग से आयोजनकर्ता जिला समन्वयक रवि कुमार एवं उत्क्रमित उच्च विद्यालय नकटपूरा के प्रधानाध्यापक शकेब अहमद की अध्यक्षता में बाल दिवस पखवारा के अवसर पर बाल विवाह एवं बाल श्रम जैसी कुरीतियों को जड़ से मिटाने के लिए समाज के नई पीढ़ियों में बदलाव लाने हेतु किशोर/किशोरियों द्वारा अपने पंचायत नकटपूरा के लिए पंचायत व गांव की समस्याओं व सुझावों का मांग पत्र बनाया गया। बच्चों ने मिलकर चित्रकारी, निबंध व भाषण के माध्यम से कार्यक्रम को सफल बनाया।इस अवसर पर बच्चों ने अपने मांग को पंचायत के मुखिया राम प्रवेश मिस्त्री, उप मुखिया अर्चना कुमारी, वार्ड सदस्य रेणु देवी, उक्त विद्यालय के शिक्षक गण तथा समाजिक कार्यकर्ता कलिइंद्र दास सहित अन्य गणमान्य लोगों के समक्ष मांग पत्र को प्रस्तुत करते हुए ग्राम पंचायत योजना में मुद्दे को शामिल करने के लिए और समाधान हेतु बातों को रखी।इस खबर को सुनने के लिए ऑडियो पर क्लिक करें।

नालंदा जिला के रहुई प्रखंड अंतर्गत आदर्श मध्य विद्यालय पतासँग में किशोर ,किशोरियों के साथ उड़ान परियोजना के तहत सेव द चिल्ड्रन/यूनीसेफ के सहयोग से आयोजनकर्ता प्रखंड समन्वयक सुधा कुमारी एवं शारिरिक शिक्षक श्री श्याम किशोर कुमार की अध्यक्षता में चाचा नेहरू के जन्मदिन व बाल दिवस पखवारा के अवसर पर बाल विवाह एवं बाल श्रम जैसी कुरीतियों को जड़ से मिटाने के लिए समाज के नई पीढ़ियों में बदलाव लाने हेतु किशोर/किशोरियों द्वारा अपने - अपने पंचायत पतासँग के लिए पंचायत व गांव की समस्याओं व सुझाव का मांग पत्र बनाया गया। कुछ बच्चों ने मिलकर नाटक,पेंटिंग व भाषण के माध्यम से कार्यक्रम को सफल बनाया। इस अवसर पर बच्चों ने अपने मांग को पंचायत के सरपंच श्री विजय राम ,वार्ड सदस्य श्रवण कुमार तथा समाजिक कार्यकर्ता परमहंस कुमार के समक्ष मांग पत्र को प्रस्तुत करते हुए ग्राम पंचायत योजना में मुद्दे को शामिल करने के लिए और समाधान हेतु बातों को रखी गई । पुनःसरपंच जी के द्वारा बच्चे हमारे भविष्य हैं और समाज में इन बच्चों द्वारा ही परिवर्तन लाया जा सकता है अतः समस्या निदान हेतु सन्तावना भी दिया गया और बोला गया कि जी.पी.डी. योजना में भी इन मुद्दों को डाला जाएगा। इस मौके पर प्रधानाध्यापक श्री सुनील कुमार सिंह,श्याम किशोर कुमार, डौली सिन्हा, रश्मि रानी सिन्हा, बन्दना कुमारी,राम सागर राम,अशोक कुमार, शैलेंद्र कुमार एवं सभी बच्चे की सफल भागीदरी अपने हित की बातों को जोड़ते हुए रही।