Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

Khajoori s

दिल्ली एनसीआर श्रमिक वाणी के माध्यम से रीना परवीन की बातचीत नबिया से हुई नबिया बताती हैंमैं खिलौना फैक्ट्री में काम करती हूं हमारी फैक्ट्री में खिलौने बनते हैं हमारी फैक्ट्री में 1 साल पहले 35 वर्कर काम करते थे काम मधा होने की वजह से अब सिर्फ 12 वर्कर ही काम कर रहे हैं इसमें से पांच महिलाएं हैं हमारी फैक्ट्री मालिक द्वारा हमारा ईएसआई कार्ड भी नहीं ।बनाया गया है ताकि हमें इस कार्ड का लाभ मिल सके

दिल्ली एनसीआर श्रमिक वाणी का माध्यम से मोहम्मद शाहनवाज की बातचीत मुन्ना कुरैशी वह वकील अहमद से हुई मुन्ना कुरैशी वह वकील अहमद यह वह लोग हैं उत्तराखंड के ट्रेन में फंसे 41 मजदूरों को निकालने वाले 27 घंटे में मजदूरों को निकाला आज 27 मिनट में वकील अहमद का मकान डीडीए द्वारा तोड़ दिया गया 17 साल का वकील अहमद का बेटा उसकी बीवी 12 साल की लड़की को थाने में ले जाकर खूब पीटा गया

अगल बगल के मकान यूहीं खड़े हुए हैं।

दिल्ली एनसीआर श्रमिक वाणी के माध्यम से रीना परवीन की बातचीत रेशमा से हुई रेशमा बताती हैं मैं पूजा कंपनी में काम करती हूं लेडिस फ्रॉक बनती हैं हमें 4 महीने से पीएफ नहीं मिल रहा था एचआर द्वारा कई बार हमने अपनी शिकायत भी की थी कोई कार्रवाई नहीं हो रही थी अब हमारे खाते में 2 महीने का पीएफ मिल गया है मैं श्रमिक वाणी का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं 21 फरवरी 2024 को श्रमिक वाणी पर खबर चलाई थी खबर को हमने लोकल व्हाट्सएप ग्रुप फेसबुक हर को खबर शेर की थी खबर का बड़ा असर हुआ है

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.