बिहार राज्य के जमुई जिला सिकंदरा प्रखंड से विजय कुमार मोबाइल वाणी के द्वारा कहते हैं की हमारे देश की शिक्षा व्यवस्था बहुत ही खराब दौर से गुजर रही है।अगर देखा जाए तो हमारे देश के सरकारी स्कुलों की स्थिति काफी दयनीय है।इसका कारण सरकार और शिक्षा प्रणाली तो है ही लेकिन इस समस्या के लिए कहि ना कही शिक्षक भी जिम्मेदार है।हमारे देश में शिक्षकों का उद्देश्य सिर्फ अपने जीविकोपार्जन के लिए यह काम करना होता है।बहुत ही कम शिक्षक है जो इस क्षेत्र में अपनी रूचि रखते हैं।रूचि रखने वाले शिक्षक अपने आप को निरंतर अपग्रेड करते रहते है जिससे बच्चों को अच्छी शिक्षा दी जा सके लेकिन अधिकतम शिक्षक खुद को अपग्रेड नहीं करते है।पुरानी पद्धति द्वारा बच्चों को पढ़ाते है ,जिससे बच्चे आज के युग के अनुसार खुद को नहीं बना पाते जो उनके भविष्य के लिए अच्छा नहीं रहता है।इसलिए सरकार को समय-समय पर शिक्षकों के लिए कुछ प्रशिक्षण की व्यवस्था करनी चाहिए ताकि उनमें भी ज्ञान की वृद्धि होती रहे

बिहार राज्य के जमुई जिला के सिकंदरा प्रखंड से विजय कुमार सिंह मोबाइल वाणी के माध्यम से कहते हैं कि वर्तमान समय में भी बच्चों का बचपन पूरी तरह से बाल मजदूरी के गिरफ्त में है। आजादी के इतने साल बाद भी आज बच्चे कूड़ा बीनने के साथ साथ भीख मांगने तक के कामों में संलिप्त देखा जाता हैं। यह काम उन्हें मज़बूरी में करना पड़ता है। वर्तमान समय में सरकार द्वारा कई तरह के योजनाएं संचालित हो रही हैं।लेकिन किसी भी योजनाओं लाभ बच्चों को नहीं मिल पता हैं। अत: बच्चों की इस हालात पर सरकार के साथ -साथ समाज सेवी संस्थाओं को गंभीरता पूर्वक विचार करने की जरुरत है।

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.

बिहार राज्य के जमुई जिला के सिकंदरा प्रखंड से विजय कुमार सिंह मोबाइल वाणी के माध्यम से कहते हैं कि रोजगार में कुशल और गैर कुशल दोनों तरह के रोजगार आते हैं। लेकिन रोजगार की कमी हमारे देश में कई तरह की समस्या खड़ी कर दी है। जैसे आर्थिक असमानता शहरी आबादी का बढ़ना ग्रामीण आबादी की संख्या में लगातार कमी आदि। इन समस्याओं से निजात पाने के लिए ग्रामीण अर्थ तंत्र में बदलाव लाना होगा।इसके तहत इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए गाँधी जी का ग्राम स्वराज काफी कारगर साबित हो सकता है। साथ ही सरकार को अपने नीतिगत फैसले में बदलाव भी करनी होगी

Transcript Unavailable.

Transcript Unavailable.